Monday, 6 February 2012

तुलसी ...

शांत सी ,भाव सी , छाँव सी , तुलसी
शिष्ट सी ,इष्ट सी ,सत्यनिष्ठ सी , तुलसी
पूर्ण सी ,गुणों सी ,पुण्यों सी , तुलसी
कृष्ण सी ,प्रेम सी, राम सी , तुलसी
औषध सी, संजीवनी ,तारिणी , तुलसी
भक्त की , वरदान सी ,क्षमाधात्री , तुलसी
गीता में ,वेदों में , ज्ञान सी , तुलसी
ओजस्वी ,तेजस्वी , तपस्वी , तुलसी
प्रकाश में ,अंजुरी में ,मंजूरी में , तुलसी
जन्म में ,अंत में ,पर्यंत में , तुलसी

16 Comments:

At 7 February 2012 at 01:00 , Blogger यशवन्त माथुर (Yashwant Mathur) said...

बहुत ही बढ़िया।

सादर

 
At 7 February 2012 at 01:21 , Blogger ईं.प्रदीप कुमार साहनी said...

बहुत सुन्दर वर्णन किया आपने तुलसी का । बधाई ।
मेरी नई रचना देखें-
मेरी कविता:आस

 
At 7 February 2012 at 01:33 , Blogger अनुपमा पाठक said...

तुलसी-गाथा पढ़कर धन्य हुए!
बहुत सुन्दर!

 
At 7 February 2012 at 01:45 , Blogger मनीष सिंह निराला said...

बहुत सुन्दर प्रस्तुति !
दुर्भाग्य से ये तुलसी हम सब के आँगन
से विलुप्त होती दिख रही है !

 
At 7 February 2012 at 01:48 , Blogger रश्मि प्रभा... said...

सुन्दर प्रस्तुति

 
At 7 February 2012 at 02:03 , Blogger संध्या शर्मा said...

बहुत सुन्दर तुलसी महिमा...

 
At 7 February 2012 at 02:09 , Blogger NISHA MAHARANA said...

very nice.

 
At 7 February 2012 at 03:22 , Blogger सदा said...

वाह ...बहुत बढि़या।

 
At 7 February 2012 at 04:59 , Blogger डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

बहुत बढ़िया!

 
At 7 February 2012 at 06:25 , Blogger sangita said...

nice post.

 
At 7 February 2012 at 11:02 , Blogger Atul Shrivastava said...

तुलसी के गुणों पर सुंदर रचना।

 
At 7 February 2012 at 22:22 , Blogger Asha Saxena said...

तुलसी का सहज और सुन्दर रूप दिखाती रचना |
बधाई |
आशा

 
At 8 February 2012 at 07:22 , Blogger dheerendra said...

बहुत अच्छा लिखा आपने,बढ़िया प्रस्तुति....
NEW POST.... बोतल का दूध...

 
At 8 February 2012 at 10:45 , Blogger dheerendra said...

आपकी रचना बहुत अच्छी लगी,लाजबाब सुंदर पंक्तियाँ,..

MY NEW POST...मेरे छोटे से आँगन में...

 
At 8 February 2012 at 12:07 , Blogger Madhuresh said...

जन्म में ,अंत में ,पर्यंत में , तुलसी

सच, तुलसी कहाँ नहीं है!
बहुत अच्छी रचना, सधन्यवाद.

 
At 24 April 2012 at 10:30 , Blogger Rakesh Kumar said...

सुन्दर... अति सुन्दर.
आपकी पोपुलर प्रस्तुति
कमाल कि है,ऋतू जी.

 

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home