Monday, 13 February 2012

मैं थोड़ी व्यस्त हूँ ..

मैं थोड़ी व्यस्त हूँ ..
पर आपके समक्ष हूँ 
समय मिलते ही कुछ लिखूंगी 
इसके लिए हरदम आश्वस्त हूँ ..
चाँद लम्हों में दिन बीत रहे 
जाने हम हारे या जीत रहे 
परिणामों की परवाह छोडें
कर्तव्यों का पालन कर रहे 
इनसब के बीच 
मैं एकदम चुस्त हूँ 
बैर भाव से मुक्त हूँ 
ज़िन्दगी तुझ संग मैं हंसूंगी 
इसके लिए पूर्ण आश्वस्त हूँ 
मैं बस थोड़ी व्यस्त हूँ ...
:)
 

12 Comments:

At 13 February 2012 at 01:56 , Blogger सदा said...

वाह ...बहुत खूब ।

 
At 13 February 2012 at 02:12 , Blogger Kailash Sharma said...

यह व्यस्तता ही तो जीवन है...बहुत सार्थक सोच लिये सुंदर प्रस्तुति..

 
At 13 February 2012 at 03:25 , Blogger रश्मि प्रभा... said...

vyastata mein bhi saath ka sukh

 
At 13 February 2012 at 05:22 , Blogger यादें....ashok saluja . said...

चुस्त,दुरुस्त ,मस्त और व्यस्त रहें ...
शुभकामनाएँ !

 
At 13 February 2012 at 06:56 , Blogger sangita said...

shandar,bdhai .

 
At 13 February 2012 at 07:32 , Blogger अरूण साथी said...

bas yahi chahiye..samay samay par likhna....sundar

 
At 13 February 2012 at 07:39 , Blogger Atul Shrivastava said...

बहुत बढिया।

 
At 13 February 2012 at 10:10 , Blogger डा.राजेंद्र तेला"निरंतर"(Dr.Rajendra Tela,Nirantar)" said...

vyasttaa kaa
bahaanaa naa banaao
aise hee likhte raho
phir bhee kahte raho
main vyast thee

 
At 14 February 2012 at 00:35 , Blogger mridula pradhan said...

badi pyari hai apki vyastta....

 
At 14 February 2012 at 04:51 , Blogger Amrita Tanmay said...

निश्चय ही बहुत बढिया।

 
At 15 February 2012 at 23:36 , Blogger Neeraj Dwivedi said...

वाह सुन्दर भाव
Life is Just a Life
My Clicks

 
At 20 February 2012 at 05:03 , Blogger दिगम्बर नासवा said...

जीवन व्यस्त रहे तो इससे अच्छी बात कुछ भी नहीं ... गहरे भाव लिए ...

 

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home