Monday, 9 April 2012

कुछ मुक्तक ..


1.तुम्हारे जाने से गुलशन तो न खाली होगा 
पर एक फूल डाली से जुदा होगा 
महकेंगी गलियाँ तुम्हारी भी 
पर तुम्हारी साँसों का ज़िक्र यहाँ होगा
 
2.गुनगुनाने से गाने का सबब बनता है 
खो जाने से पाने का सबब बनता है 
पार उतारे माझी तुम्हारी नैया को भी 
के चले जाने से ही आने का सबब बनता है 
(चित्र गूगल से )

14 Comments:

At 9 April 2012 at 04:58 , Blogger सदा said...

बहुत बढिया।

 
At 9 April 2012 at 06:15 , Blogger veerubhai said...

अच्छा है .

 
At 9 April 2012 at 06:54 , Blogger Anupama Tripathi said...

sunder santvana ....
shubhkamnayen ..

 
At 9 April 2012 at 07:21 , Blogger dheerendra said...

गुनगुनाने से गाने का सबब बनता है
खो जाने से पाने का सबब बनता है
पार उतारे माझी तुम्हारी नैया को भी
के चले जाने से ही आने का सबब बनता है....
वाह!!!!बहुत खूब,...ऋतू जी,..बहुत ही सुंदर रचना,...
आपका बहुत दिनों से पोस्ट में आना नही हुआ,...आइये स्वागत है

RECENT POST...काव्यान्जलि ...: यदि मै तुमसे कहूँ.....
RECENT POST...फुहार....: रूप तुम्हारा...

 
At 9 April 2012 at 08:18 , Blogger Dr.NISHA MAHARANA said...

खो जाने से पाने का सबब बनता है
पार उतारे माझी तुम्हारी नैया को भी
very nice.....

 
At 9 April 2012 at 11:34 , Blogger Atul Shrivastava said...

आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा आज के चर्चा मंच पर की गई है।
चर्चा में शामिल होकर इसमें शामिल पोस्ट पर नजर डालें और इस मंच को समृद्ध बनाएं....
आपकी एक टिप्‍पणी मंच में शामिल पोस्ट्स को आकर्षण प्रदान करेगी......

 
At 9 April 2012 at 19:37 , Blogger रचना दीक्षित said...

तुम्हारे जाने से गुलशन तो न खाली होगा
पर एक फूल डाली से जुदा होगा
महकेंगी गलियाँ तुम्हारी भी
पर तुम्हारी साँसों का ज़िक्र यहाँ होगा.

बेहतरीन. बधाई स्वीकार करें.

 
At 10 April 2012 at 00:51 , Blogger संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

बहुत खूब

 
At 10 April 2012 at 02:49 , Blogger Maheshwari kaneri said...

बहुत खुबसूरत..

 
At 10 April 2012 at 05:29 , Blogger कविता रावत said...

bahut badiya prastuti..

 
At 10 April 2012 at 08:06 , Blogger सतीश सक्सेना said...

शुभकामनायें आपको !

 
At 10 April 2012 at 21:01 , Blogger दिगम्बर नासवा said...

बहुत खूब ... लाजवाब मुक्तक ...

 
At 11 April 2012 at 07:57 , Blogger Asha Saxena said...

बहुत भावपूर्ण |बहुत सुन्दर प्रस्तुति
आशा

 
At 16 April 2012 at 17:13 , Blogger Savita said...

Wah! Wah!

 

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home