Wednesday, 23 November 2011

स्वागत लेख ..

स्वागत  लेख ..

'कलमदान' में आपका स्वागत है..
'कलमदान' वो पट है जिसमें मनः पटल पर उभरती  भाँती भाँती की विचारधाराओं का संग्रह होगा ..
जिस प्रकार कलमदान में भिन्न भिन्न प्रकार की कलमें सजी होती हैं व हर कलम का अपना अलग स्थान होता  है..हर कलम अलग अलग लेखन के लिए उपयोग में लायी जाती है ,ठीक उसी प्रकार इस पट पर भी हम अलग अलग संवेदनाओं व भावनाओं को एकत्र करेंगे..
आशा है इस माला के मोती बन आप  मुझे एक पुष्पहार पिरोने में मदद करेंगे..

धन्यवाद 

3 Comments:

At 24 November 2011 at 19:47 , Blogger Rajesh Modi said...

Grt.... i had already visualized you as "Kaviyatri" long back...wish you a grand sucess.....

 
At 26 November 2011 at 11:13 , Blogger RITU said...

thanks!! will always look forward to your comments and suggestions..

 
At 20 December 2011 at 09:38 , Blogger Rakesh Kumar said...

आपकी पोपुलर पोस्ट की यह प्रस्तुति बहुत अच्छी है.
आशा करता हूँ आप सुन्दर सुन्दर पुष्पहार प्रस्तुत करती रहेंगीं.
बहुत बहुत शुभकामनाएँ आपको.

 

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home